What is Cyber Bullying? – साइबर बुलिंग क्या है ?

Cyber Bullying - Computer Gyan Hindi
Fig.- Cyber Bullying

What is Cyber Bullying

What is Cyber Bullying :- साइबर बुलिंग उन साइबर खतरों में से एक है जिनका सामना हर एक वर्ग के बच्चों और युवाओं के द्वारा किया जा रहा है। साइबर बुलिंग तब होती है जब कोई व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति को धमकाने, चिढ़ाने, अपमानित करने या परेशान करने के लिए इंटरनेट, ईमेल, ऑनलाइन गेमिंग या फिर सोशल मीडिया और किसी अन्य प्रकार के डिजिटल प्लेटफॉर्म का उपयोग करता है। धमकाने और बदमाशी का शिकार किसी भी उम्र में हो सकता है बहुत छोटे बच्चों से लेकर किशोर अवस्था तक के लोगो को हो सकता है परन्तु साइबर खतरों के बारे में समझ ना होने के कारण बच्चे और युवा अवस्था के लोग आसानी से साइबर बुलिंग का शिकार हो जाते है और कुछ मामलों में तो इनसे भी परे है।

साइबर बुलिंग से तात्पर्य यह है की वे लोग Internet या फिर Mobile Technology का उपयोग करके कष्टप्रद संदेशो जैसे- डराना, धमकाना और अश्लील फोटो वीडियोस भेज कर गुमराह करना और असभ्य और घटिया बाते करना मानसिक उत्पीड़न का शिकार होना ये सब साइबर बुलिंग के अंतर्गत आते है।

बदमाशी का स्रोत स्कूल या कॉलेज में या दुनिया के दूसरी तरफ एक पूर्ण अजनबी में से कोई हो सकता है। ऑनलाइन किसी को धमकाना हमेशा धमकी भरी टिप्पणी करना होता है। वह एक तरफ का एक चंचल टिप्पणी बाते करके भी वह तुमको साइबर बुलिंग की तरफ़ ले जा सकता है जिससे तुमको अहसास भी नही होगा और वह दूसरी तरफ कई साइबर बुलिंग का शिकार कर चूका होगा जिसका तुमको ज्ञात भी नहीं होगा।

यह हमेशा निर्दिष्ट करने के लिए एक आसान बात नहीं है, क्योंकि हम सभी के पास ऐसे क्षण होते हैं जब हम उस व्यक्ति को किसी भी भावनात्मक नुकसान के लिए बिना मतलब के किसी को परेशान करने के लिए कह सकते हैं या कर सकते हैं। ज्यादातर हालांकि, एक ढीली और फेंक-फेंकने वाली टिप्पणी के संबंध में, जिसने टिप्पणी की वह शायद अपनी गलती के लिए माफी मांगेगा, जब उन्हें पता चलेगा कि उन्होंने दूसरे व्यक्ति को परेशान किया है।

क्या आप जानते है?साइबर बुलिंग के बारे में तो हमे पहले अहसास भी नहीं था की कोई हमारे साथ साइबर बुलिंग कर सकता है लेकिन साइबर बुलिंग हर कोई कर सकता है चाहे वे अपने कोई पहचान का भी कोई हो सकता है जिससे हम सोशल मीडिया के माध्यम से जैसे Facebook, Instagram, telegram, E-mail  या फिर कोई अन्य प्लेटफार्म के माध्यम से जुड़े हो या फिर जानते हो। “

साइबर बुलिंग से शिकार हो जाने से कैसे बचे ?

सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर कभी भी किसी भी अनजान व्यक्ति का मित्र अनुरोध स्वीकार ना करें जिसे आप अच्छे तरीके से जानते हो उन्हीं का मित्र अनुरोध स्वीकार करें खासकर ऐसा भी हो सकता है जिसे आप अच्छी तरीके से जानते हो वह उसी के नाम से फेक आईडी बनाकर भी वह आपसे कनेक्ट हो सकते है इसके बारे में अच्छे से आपको ख्याल रखना होगा।

दूसरी बात तो यह है की आप जब सोशल मीडिया प्लेटफार्म का उपयोग करते हो जैसे की आप Facebook, Youtube, Instagram कमेंट बॉक्स में  या फिर किसी अन्य प्लेटफार्म जैसे- ई-मेल, चैट सर्विस इन सब में गलती से भी अपना व्यक्तिगत पहचान और अपना नंबर या ईमेल-id शेयर ना करे

Leave a Comment

%d bloggers like this: